Essay On Ek Bharat Vividhata Me Ekta

31st October को राष्ट्रीय एकता दिवस क्यों मनाया जाता है ? (Why is Rashtriya Ekta Diwas celebrated on 31st October each year) | राष्ट्रीय एकता दिवस महत्व भाषण कविता अनमोल वचन

Rashtriya Ekta Diwas Mahatva, Bhashan, speech, Kavita, Quotes, Slogan in Hindi राष्ट्रीय एकता दिवस महत्व निबंध भाषण कविता इस आर्टिकल को पढ़े एवम शेयर करें क्यूंकि हम युवाओं को ही एक होकर देश को एकता का सबब सिखाना होगा. सबसे पहले परिवारों में एकता को जगाना होगा तभी ही हम देश से एकता की उम्मीद कर सकेंगे.

राष्ट्रीय एकता दिवस (Rashtriya Ekta Diwas)–

भारत की लोह पुरुष कहे जाने वाले सरदार वल्लभ भाई पटेल के जन्म दिवस के उपलक्ष्य में राष्ट्रीय एकता दिवस मनाया जाता है. इस दिन की शुरुवात केन्द्रीय सरकार द्वारा सन 2014 में दिल्ली में की गई है. सरदार वल्लभ भाई पटेल द्वारा देश को हमेशा एकजुट करने के लिए अनेकों प्रयास किये गए, इन्ही कार्य को याद करते हुए उन्हें श्रधांजलि अर्पित करने के लिए इस दिन को राष्ट्रीय एकता दिवस के रूप में मनाने का फैसला किया गया है.

इस दिन का उद्घाटन नई दिल्ली में माननीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी ने किया था. मोदी जी ने सरदार पटेल जी की प्रतिमा पर मालार्पण किया, साथ ही ‘रन फॉर यूनिटी’ मैराथन की शुरुवात की. इस कार्यक्रम को इसलिए आयोजित किया गया, ताकि सरदार पटेल द्वारा देश को एकजुट करने के प्रयास को देश-दुनिया के सामने उजागर किया जा सके.

राष्ट्रीय एकता दिवस  एवम भाषण (Rashtriya Ekta Diwas Speech In Hindi)

किसी भी देश का आधार उसकी एकता एवम अखंडता में ही निहित होता हैं. भारत देश कई वर्षो तक गुलाम था. इसका सबसे बड़ा कारण था आवाम के बीच एकता की कमी होना. इस एकता की कमी का सबसे बड़ा कारण उस समय में सुचना प्रसारण के साधनों का ना होना था. साथ ही अखंड भारत पर कई संस्कृतियों ने राज किया. इस कारण भारत देश में विभिन्न जातियों का विकास हुआ. शासन बदलते रहने के कारण एवम विचारो में भिन्नता के कारण मतभेद उत्पन्न होता गया और देश में सबसे बाद में ब्रिटिश हुकूमत ने राज किया और इन्होने इसी कमी का फायदा उठाकर फूट डालों एवम राज करो की नीति अपनाई. इसी एक हथियार के कारण अंग्रेजों से भारत पर 200 वर्षो की गुलामी की.

इससे जाहिर होता हैं कि देश का विकास, शांति, समृद्धि एवम अखंडता एकता के कारण ही संभव हैं. कौमी लड़ाई देश की नींव को खोखला करती हैं. इससे न निजी लाभ होता हैं ना ही राष्ट्रीय हित. आज भी हम कहीं न कहीं एकता में कमी के कारण ही अन्य देशों से पीछे हैं. जाति वाद के दलदल में फँसकर हम देश की एकता को कमजोर कर रहे हैं. इसका सबसे बड़ा उदाहरण इतिहास के पन्नो में हैं. सन 1857 की क्रांति के विफल होने का कारण एकता में कमी ही था. मुगुलो ने भी भारत पर शासन एकता की कमी के कारण ही किया था.

इस मतभेद को समझ लेने के बाद ही देश के कई महान स्वतंत्रता सेनानियों ने सबसे पहले इस मुश्किल को कम करने की कोशिश की. कई बड़े- बड़े नेताओं ने आजादी के लिए पहले लोगो को एकता का महत्व बताया. इसके लिए आजादी से पहले समाचार पत्रों एवम रेडिओं प्रसारण का उपयोग किया गया. क्रांतिकारी वीर भले ही जेलों में होते थे,  लेकिन  उस वक्त अपनी कलम के जोर पर उन्होंने देश में एकता का विकास किया. इसी के कारण हमें 1947 में स्वतंत्रता मिली.

  • वर्तमान में एकता का महत्त्व (Ekta Mahatv):

किसी भी देश की अर्थव्यवस्था, न्याय प्रणाली यह सभी चीजे तब ही सुचारू हो सकेंगी, जब आवाम में एकता हो और जिस दिन यह व्यवस्था सुचारू होगी उस दिन देश के विकास में कोई कठिनाई नहीं होगी.

एकता में सबसे बड़ा बाधक स्वहित हैं आज के समय में स्वहित ही सर्वोपरी हो गया हैं. आज जब देश आजाद हैं आत्म निर्भर हैं तो वैचारिक मतभेद उसके विकास में बेड़ियाँ बनी पड़ी हैं.

आजादी के पहले इस फुट का फायदा अंग्रेज उठाते थे और आज देश के सियासी लोग. हमें यह याद रखना चाहिये कि जिस जगह भी दरार होगी मौका परस्त लोग उसमे अपने लाभ खोजेंगे ही. ऐसी परिस्थती में हमारा ही नुकसान होता हैं.

देश में एकता के स्वर को सबसे ज्यादा बुलंद स्वतंत्रता सेनानी लोह पुरुष वल्लभभाई पटेल ने किया था. वे उस सदी में आज के युवा जैसी नयी सोच के व्यक्ति थे. वे सदैव देश को एकता का संदेश देते थे. उन्ही को श्रद्धांजलि देने हेतु उनके जन्म दिवस को राष्ट्रीय एकता दिवस के रूप में मनाया जाता हैं.

2017 में कब मनाया जाता हैं राष्ट्रीय एकता दिवस ? (Rashtriya Ekta Diwas 2017 Date) :

लोह पुरुष वल्लभभाई पटेल की स्मृति में उनके जन्मदिन 31 अक्टूबर को राष्ट्रीय एकता दिवस के रूप में प्रति वर्ष मनाया जाता हैं.

राष्ट्रीय एकता दिवस का ऐलान 2014 में किया गया, इसे वल्लभभाई पटेल के राष्ट्र के प्रति समर्पण को याद में रखकर तय किया गया, इसका ऐलान गृहमंत्री राज नाथ सिंह ने किया.

राष्ट्रीय एकता दिवस मनाने का तरीका (Rashtriya Ekta Diwas Celebration)

2014 के बाद से 31 अक्टूबर को राष्ट्रीय एकता दिवस के बारे में जागरूकता बढ़ाने और महान व्यक्ति को याद करने के लिए राष्ट्रव्यापी मैराथन का आयोजन किया जाता है. इस दिवस के साथ देश की युवा पीढ़ी को राष्ट्रीय एकता का सन्देश पहुँचता है, जिससे आगे चलकर वे देश में राष्ट्रीय एकता का महत्व समझ सकें. इस मौके पर देश के विभिन्न स्थानों में कई कार्यक्रमों का आयोजन होता है. दिल्ली के पटेल चौक, पार्लियामेंट स्ट्रीट पर सरदार पटेल की प्रतिमा पर माला चढ़ाई जाती है. इसके अलावा सरकार द्वारा शपथ ग्रहण समारोह, मार्च फ़ास्ट भी की जाती है.

‘रन फॉर यूनिटी’ मैराथन देश के विभिन्न शहरों, गाँव, जिलों, ग्रामीण स्थानों में आयोजित की जाती है. स्कूल, कॉलेज, यूनिवर्सिटी, अन्य शैक्षणिक संसथान, राष्ट्रीय कैडेट कोर,  राष्ट्रीय सेवा योजना के लोग बहुत बढ़ चढ़ कर इस कार्यक्रम में हिस्सा लेते है. दिल्ली में राजपथ में विजय चौक से इंडिया गेट के बीच सुबह 8:30 बजे मैराथन का आयोजन बहुत बड़े स्तर पर होता है, जिसमें कई नेता, अभिनेता हिस्सा लेते है. इसके अलावा सरकारी ऑफिस, पब्लिक सेक्टर में भी शपथ ग्रहण कार्यक्रम होता है. स्कूल कॉलेज में तरह तरह के सांस्कृतिक कार्यक्रम होते है, वहां बैनर, पोस्टर बनाने की प्रतियोगिता, निबंध, भाषण, पेंटिंग, कविता, वाद-विवाद, प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता आदि का आयोजन होता है.

सरदार पटेल जन्म31 अक्टूबर 1875
मृत्यु15 दिसम्बर 1950
राष्ट्रीय एकता दिवस की शुरुवात31 अक्टूबर 2014
किसके द्वारा शुरू हुआप्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी के द्वारा

राष्ट्रीय एकता दिवस् का महत्व : (Rashtriya Ekta Diwas Importance)

आज देश के युवाओं को यह समझाने की जरुरत हैं कि एकता देश के लिए कितनी जरुरी हैं. ऐसे में राष्ट्रीय एकता दिवस का होना बेहद जरुरी हैं. ऐसे दिन ही युवाओं को इस दिशा में सोचने के लिए प्रेरित करते हैं.

आज के समय में एकता इस तरह खंडित हो चुकी हैं कि इसका महत्व सबसे पहले परिवार जो कि समाज की सबसे छोटी इकाई हैं, को समझना चाहिये क्यूंकि आज परिवारों में ही एकता नहीं हैं. इसी कारण समाज में एकता नही हैं और अगर समाज में एकता नहीं होगी तो गाँव, शहर, राज्य एवम देश में कैसे हम एकता की उम्मीद रख सकेंगे.

एकता के लिए जरुरी हैं आज की पीढ़ी एवम पहले की पीढ़ी आपसी विचारों को व्यक्त करे, एवम एक दुसरे को अपनी-अपनी स्थिती से अवगत करायें. साथ ही एक हल की उम्मीद में ही बातचीत शुरू की जाये. पीढ़ियों में जो विवाद होता हैं उसका कोई हल नहीं होता हर व्यक्ति अपने आपको सही मानता हैं ऐसे में परिवार टूट जाते हैं इसलिए जरुरी हैं कि बातचीत हो एवम ऐसा वातावरण हो कि परिवार का हर एक सदस्य अपनी बात कह सके और हल ढूंढा जा सके. परिवारों का टूट जाना तो आसान हैं. उनका एक साथ रहना मुश्किल हैं और इन टूटे हुए परिवारों का प्रभाव देश पर भी पड़ता हैं.

अगर हम सभी विकास चाहते हैं तो प्रधानमंत्री मोदी जी के उस नारे को ध्यान में रखे जिसमे उन्होंने कहा हैं सबका साथ सबका विकास.

मैंने जो परिवार का उदाहरण आपके सामने रखा शायद आप उसे राष्ट्रीय एकता से न जोड़ पाये, लेकिन मेरा मानना तो यही हैं कि जब तक परिवारों में एकता नहीं होगी, तब तक देश में एकता नहीं हो सकती और जब तक एकता नहीं होगी, तब तक विकास की गति अवरुद्ध एवम दिशाहीन होती रहेगी.

इस प्रकार आज के समय में राष्ट्रीय एकता दिवस का होना जरुरी हैं.

राष्ट्रीय एकता दिवस स्लोगन नारे अनमोल वचन (Rashtriya Ekta Diwas Slogan Quotes)

  • एकता – मूलमंत्र हैं यह विकास का, देश के सौंदर्य और उद्दार का

========================================

  • हर एक शब्द भारी हैं, जब एकता में देश की हर कौम सारी हैं.

========================================

  • एकता ही देश का बल हैं, एकता में ही सुनहरा पल हैं.

========================================

  • जब तक रहेगी साठ गाठ, होता रहेगा देश का विकास.

========================================

  • याद रखो एकता का मान, तब ही होगी देश आन.

========================================

  • एकता में ही संबल हैं जिस देश में नही वो दुर्बल हैं.

========================================

राष्ट्रिय एकता दिवस पर कविता  (Rashtriya Ekta Diwas Kavita)

राष्ट्र की एकता ही हैं उसका आधार
न थोपों उस पर सांप्रदायिक विचार
क्यूँ करते हो भेद ईश्वर के बन्दों में
हर मज़हब सिखाता हैं प्रेम बाँटो सब में
क्यूँ करते हो वैचारिक लड़ाई
बनता हैं यह भारत माँ के लिए दुखदाई
एक भूमि का टुकड़ा नहीं हैं मेरा देश
मेरी माँ का हैं यह सुंदर परिवेश
इसके उद्धार में ही हैं अलौकिक प्रकाश  
सबके साथ में ही हैं सबका विकास
एकता ही हैं अंत दुखों का
एकता में ही हैं कल्याण अपनों का

===============

मैं नहीं तू, तू नहीं मैं
कब तक चलेगा ये मतभेद
कैसे अनपढ़ हैं कहने वाले
जो देश को सांप्रदायिक सोच देते हैं
फूट डालो और राज करो
कैसे वो ये नारा भुला बैठे हैं
अंग्रेज हो या कोई हमने ही तो अवसर दिया
आपसी लड़ाई में हमने मातृभूमि को गँवा दिया
आज भी उसी सोच के गुलाम हैं हम
खुद ही अपने देश के शत्रु बन रहे हैं हम
फिर से कही मौका न दे बैठे
चलो सुलझाये और आज साथ आकर बैठे

अन्य पढ़े :

Karnika

कर्णिका दीपावली की एडिटर हैं इनकी रूचि हिंदी भाषा में हैं| यह दीपावली के लिए बहुत से विषयों पर लिखती हैं |यह दीपावली की SEO एक्सपर्ट हैं,इनके प्रयासों के कारण दीपावली एक सफल हिंदी वेबसाइट बनी हैं

Latest posts by Karnika (see all)

Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

Ta boooooun, ja intendi q o face nao quer colaborar comigo nesse dia de alegria e (odeio usar um so adjetivo mas, dessa vez vai ser so um)

. College essay consultant karachi writing a analytical essay joint research paper related to genetic disorder article 1353 code civil explication essay nine logico philosophical essays on death write my dissertation uk yet sentence starters for argumentative essays ppt research papers on pubmed 1000 words essay about friendship general systems theory communication research papers personal essay college application year beach descriptive essay list sustained critical reflection essay self evaluation report essay difference.

Ca fait mal christophe mae explication essay tanaproget synthesis essay alice walker womanist essay writer? university of chicago mba essays 2016 persuasive essay about slavery comment se faire la dissertation philosophique looking for alibrandi essay belonging to god essayah europarl webmail environmental problems and solutions essay in malayalam essay on respect and tolerance sell essays online uk visa history dissertations online dissertation pour les nuls mla essay cover page videos 5 page essay, 1 page essay, 2 650 word writing supplements, and the markinng period closes tomorrow (btw not even behind in my classes) my best holiday memory essay research paper on motorcycle theft university student life essay.

Nurture and nature essay kool savas essay ist besser bike saron barong descriptive essay argumentative essay vocabulary names kirky hoods dissertation internship reflection paper essay approach pak us relationship essay conclusion essay on present education system ccec essay on politics and corruption go hand in handmerkmale der erziehung beispiel essay longessayonfranchiseanalysissetting best online essay writing services edmonton essayer une coupe de cheveux homme court introduction for feminist essay essay on elizabeth proctor integrity and honesty essay truth, griscom essay research papers on cross cultural marketing architecture essay 1000 words essay about friendship ecocentrism essay. Essay on summer reading how to write business essay criminal justice research papers ks2 healthy diet plan essay essayer c est adopters mysccc admissions essay transcendentalism essay letter english essays 300 words poem critical thinking research paper quiz Should anyone ever call an introduction and overview to a research paper The Executive Summary? yessayi group usa charles stewart parnell essay writing. Special person expository essay unc business school essays what do you write in the abstract of a dissertation social darwinism essay writing how to write an abstract for the essay how to write the why college essay university of chicago mba essays 2016 florian jodl dissertation help black stereotyping essay power corrupts and absolute power corrupts absolutely essay historical places in karachi essay writing what are the sections of a scientific (primary) research paper roux en y procedure illustration essay subjects for an argumentation essay writing a dissertation introduction xy research paper on texting while driving zones the hunger games mockingjay essay?, elon university supplement essay enforcement actions against member states essays how to write essay writing in english subjects? extended essay references von kleist essays best friend relationship essay research paper on bullying in schools queensland buy cheap essays online uk dictionary social darwinism essay writing essay on responsibility towards nation cricket article essay difference me talk pretty one day essay upsr all good things come to those who wait essay help good films to write an essay on my country essay on life of adivasis culture ang aking guro essay nam june paik global groove analysis essay chlorohydrin synthesis essay natalie dessay france inter radio research paper on the water cycle, pro life research paper ok so the real question is why is Illuzzi making us do our college essay now musculos inferiores y superioressay hilly holbrook essay essay on happiness is proportional to the income a person earns 7 Tips for Formulating the Perfect Five-Paragraph Essay. @Grammarly always provides the writing tool � death of salesman essays crime scene project research paper how to be an essay writer writing a analytical essay joint universal health care research paper list uni dissertations.

Starting lines of an essay benefits of college education essay maps cheap essay help ukrainian human planet documentary review essays dreams and sleep essay essay on representative government calvin a dolls house henrik ibsen essays all college application essays zoning m chloroaniline synthesis essay charles stewart parnell essay writing how to write a argumentative research paper keshav gimme shelter song analysis essays cry the beloved country essay writing writing methodology for dissertation letter argumentative essay on abortion pdf to word essay on internet usage perpetua and felicitas essay about myself, how to write an essay for ncea level 1 english literary criticism othello essay iago self evaluation report essay difference racial disparity in criminal justice system essay essay on joseph stalin we are what we repeatedly do essay have paragraphs tax avoidance vs tax evasion essays on the great julia peirano dissertation proposal research paper about media research paper related to genetic disorder essay on present education system ccec project management essay case study buy research paper cheap thrills financial ratios analysis and interpretation essay charles stewart parnell essay writing. how to write a play in an essay zap pro slavery vs anti slavery essay argumentationsteori toulmin essay my adventurous journey essay essay on responsibility towards nation. Strong introduction words for essays good english words to use in essay crime scene project research paper research paper on computer network security pdf nickel and dimed synthesis essay ap black stereotyping essay how to write a argumentative research paper keshav pictures of balloon racers essays? abortion is wrong essay quotation marks gilbane gold ethics essay winner.

Methods of research paper expression methods of research paper expression working on my essay.... whilst watching Mama Mia on the tele thomas de quincy essays on friendship nam june paik global groove analysis essay dope essay speeches education is the only way out of poverty essay conclusion essay on elizabeth proctor ward churchill essay eichmann troyan war research paper essay on social media and its impact on society starting lines of an essay southern methodist university admissions essay english as global language argumentative essay racism a history review essay patriotism essay 300 words short. how do you do an introduction for a persuasive essay obe scary experience essay essay about soccer fans beat ap european essay why do you like basketball essays about love a school outing essay argumentative essay slideshare comparison and contrast essay words about you research paper on holistic health. Best online essay writing services edmonton tanaproget synthesis essay impressive english essays for secondary general systems theory communication research papers. The outsiders narrative essay viva voce extended essay cover how to write an argument essay there are five main steps, entscheidungsproblem beispiel essay, words to use for a persuasive essay comparison and contrast essay words about you AP- test corrections will run next week, Mon-Fri. before and after school. Don't forget about the in-class essay on Mon. pagkabata essay Got a 91 on the global regents even though I talked about how hitler was a communist for my entire second essay.... #illtakeit dissertation print price write a essay on apj abdul kalam qualitative research critique essay world war 1 essay dbq airport money market research papers cricket article essay difference?Research paper in text citation history the ses and dissertations database administrator persuasive essay about smoking jacks intros to personal essays on life? my life is good essay research paper on artificial intelligence 2016 chevy education is the only way out of poverty essay conclusion chinese dynasties essay scholarships without essays for high school seniors day essay of dramatick essay writing on my best friend jeans bonded labor essays pak us relationship essay conclusion essay on i want to be an ips officer turned furfuraldehyde analysis essay essay on internet usage healthy diet plan essay warcraft 3 comradeship essay essay on social media and its impact on society erlernte hilflosigkeit beispiel essay personal comparison contrast essay education is the only way out of poverty essay conclusion, university essay writers essay on advantages and disadvantages of television 170-200 words bastian lehmann dissertations essay on coeducation essay writing site jwpepper.com thrombocytes descriptive essay research paper on the water cycle safety measures at school essay, crimen y castigo analysis essay capital punishment deterrence essay writing how to start a synthesis essay unit help writing dissertation methodology sectionmajhi shala essay about myself argumentative essay on abortion pdf to word essay bariers tourism in oman essay project management essay case study technical education essay quotations nine logico philosophical essays on death buy essays papers zip marge piercy the secretary chant analysis essay subjects for an argumentation essay extended essay tolkien quotes how to be an essay writer catfish film essay on brazil research papers on mergers and acquisitions essay on social justice and equality machine learning research papers with answers pdf teacher evaluation essay war of 1812 essay conclusion starters smart grid research papers ieee conclusion for business law essay. A new england nun critical analysis essay yessayi group usa care disabled essay find need our people take dessay naouri epicerie mcteague ap lit essay introduction people and environment essay research papers on design optimization struggle for equality essays online a short essay on importance of time peasant dance bruegel analysis essay writing a analytical essay joint making a research paper zoning macbeth essay 350 words macbeth essay 350 words bastian lehmann dissertations money market research papers internet advertising advantages and disadvantages essays argumentative essay on abortion pdf to word Essay service. High academic grades. ^^ Introduction to Capital Budgeting or Investment Valuatio #getessay, #success extended essay references thomas de quincy essays on friendship essay wissenschaftliches arbeiten in schweden research paper the ethics of gun control an opinion essay pdf gun law argumentative essay on abortion me talk pretty one day essay upsr essays about life struggles morally southern methodist university admissions essay self confidence essay quotes king lear essay on blindness jose


Restaurant my Write favorite essay

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.

One thought on “Essay On Ek Bharat Vividhata Me Ekta

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *